दोस्त ने धोखा दिया शायरी : नमस्ते दोस्तों कैसे है आप सब लोग स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग में हमने इस पोस्ट में मेरा बेवफा, मतलबी , खुदगर्ज , धोकेबाज़ और गद्दार दोस्त पर शायरी और स्टेटस इन हिंदी और dosti mein dhoka shayari in hindi में लिखे है। दोस्ती टूट जाने पर बोहोत दुख होता है जिनके साथ हम ज़िन्दगी का कीमती वक़्त बिताते है अगर वो ही दगाबाज़ निकले तो फिर किसी दूसरे पर भरोसा करना मुश्किल हो जाता है।    

ये शायरी उन लोगो के लिए लिखी गई है जिन्हे दोस्ती में धोका मिला है और अपने दर्द को बया करना चाहते है। आज की इस दुनिया में सच्चे और अच्छे लोग मिलना बोहोत मुश्किल है न जाने किस मोड़ पर दोस्त हमारे साथ गद्दारी कर कर हमें रस्ते पर अकेला छोड़ जाए। 

अगर दोस्तों आपने कभी अपनी ज़िन्दगी में ऐसा महसूस किया है तो ये आप जानते है की कितना बुरा लगता है जब कोई धोका देता है। ये बेवफा दोस्त शायरी इन हिंदी आपके दर्द को थोड़ा कम जरूर करेंगी और आपको पसंद भी  आएंगी। 


दोस्त ने धोखा दिया शायरी इन हिंदी
दोस्त ने धोखा दिया शायरी इन हिंदी

अगर आपको हमारा dhokebaaz dost shayari status in hindi वाला पोस्ट अच्छा लगे तो अपने दोस्तों और परिवार में जरूर शेयर करे। आपको यहाँ पर शायरी फोटोज और इमेजेज भी मिलेंगी जिन्हे आप डाउनलोड कर सकते है और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर डाल सकते है। हमने इस ब्लॉग पर काफी सारी शायरी प्रकाशित की है जिन्हे भी आप पढ़ सकते है धन्यवाद। 

Bewafa dost shayari in hindi - दोस्त ने धोखा दिया शायरी



Dhokebaaz dost shayari in hindi
Dhokebaaz dost shayari in hindi

Mere pyare mitra honhaar ho 
Gaye hai 
Badalne ka hunar sikh liya 
Hai unhone

मेरे प्यारे मित्र होनहार हो
गए है
बदलने का हुनर सिख लिया
है उन्होंने। 


Aab dosto ke dilo mee
Dosti ke phool nahi khilte 
 Dil mee nafrat liye haskar milte hai

अब दोस्तो के दिलो में
दोस्ती के फूल नहीं खिलते
  दिल में नफ़रत लिए हसकर मिलते हैं। 

Best dhokebaaz dost shayari in hindi

Mere bure samay mee kuch dost
Meri kamiya gina rahe hai
Hokar matlabi ve dusro se dosti 
Nibha rahe hai..!

मेरे बुरे समय में कुछ दोस्त
मेरी कमिया गिना रहे हैं
होकर मतबी वे दुसरो से दोस्ती
निभा रहे हैं। 


Uske bure waqt mein 
Maine uska saath diya aur 
Jab uski baari aayi toh usne
Saath dene se saaf mana kar diya

उसके बुरे वक्त में
मैने उसका साथ दिया और
जब उसकी बारी आई तो उसने
साथ देने से साफ़ मना कर दिया। 


Dil ke zakmo ko bharne do
Abhi aansu nikle hai aur nikalne do
Mat pucho kisne dil dukhaya hai
Warna dosto ke chehre uttar jayenge

दिल के ज़ख्मो को भरने दो
अभी आंसु निकले है और निकलने दो
मत पूछो किसने दिल दुखाया है
वरना दोस्तो के चहरे उतर जाएंगे।  


Ghamand tha mujhe bohot
Tujh jaise jigri yaar par
Magar usne dhoka diya mujhe 
Vishwas tha jis gaddar par

घमंड था मुझे बोहोत
तुझ जैसे जिगरी यार पर
मगर उसने धोका दिया मुझे
विश्वास था जिस गद्दार पर। 

दोस्ती टूटने पर शायरी

Usne saare rishte tod diye
Pata nahi naraz kis baat se tha
Sabse jyada karib tha wo mere aur
Waakif wo mere har ek jazbaat se tha

उसने सारे रिश्ते तोड़ दिए
पता नहीं नराज किस बात से था
सबसे ज्यादा करीब था वो मेरे और
वाकिफ वो मेरे हर एक जज्बात से था। 


मतलबी दोस्ती शायरी इन हिंदी
मतलबी दोस्ती शायरी इन हिंदी 

Kis par bharosa kare hame
Kuch Samajh mee nahi aata 
Hame aata hai dosti nibhana
Magar dhoka dena nahi aata.! 

किस पर भरोसा करे हमें
कुछ समझ में नहीं आता
हमें आता है दोस्ती निभाना
मगर धोका देना नहीं आता। 


Usne dosti ka aisa sila diya
Apne matlab ke liye usne 
Meri dosti ko bhula diya.!

उसने दोस्ती का ऐसा सिला दिया
अपने मतलब के लिए उसने
मेरी दोस्ती को भुला दिया।

Best bewafa dost shayari in hindi

Dard kum hota hai maikhaane ke
Zaam se
Nafrat se ho gayi hai muhe dosti ke
Naam  se

दर्द कम होता है मैखाने के
जाम से
नफ़रत से हो गई है मुझे दोस्ती के
नाम से। 


Dil tut jayega tera dosto par
Jyada aitbaar mat karna
Mushil ho jayenga ye samajhna
Ki usne dhoka kyo diya 

दिल टूट जाएगा तेरा दोस्तो पर
ज्यादा ऐतबार मत करना
मुश्किल हो जाएंगा ये समझना
की उसने धोखा क्यों दिया। 


Jo dost jhoote pyar ke khaatir
Apne jigari yaar ko choud dete hai
Wo kabhi kisi se wafa nhi kar sakte

जो दोस्त झूठे प्यार के खातिर
अपने जिगरी यार को छोड़ देते हैं
वो कभी किसी से वफ़ा नहीं कर सकते। 


Aab aur kisi par 
Aitbaar nahi hota
Jabse maine dosto ka 
Asli chehra dekha hai
Kasam se apne chehre se 
Bhi mujhe nafat hone lagi hai

अब और किसी पर
ऐतबार नहीं होता
जबसे मैंने दोस्तो का
असली चेहरा देखा है
कसम से अपने चेहरे से
भी मुझे नफत होने लगी है।  

मतलबी दोस्ती शायरी स्टेटस इन हिंदी 

Jab dost hi shaamil ho 
Dushman ki chaal mein
Tab sher bhi ulajh jata hai
Bakri ke jaal mein..!

जब दोस्त ही शमील हो
दुश्मन की चाल में
तब शेर भी उलझ जाता है
बकरी के जाल में। 


दोस्ती टूट जाने पर शायरी
दोस्ती टूट जाने पर शायरी

Jo dosti ki badi badi baat karte the
Aaj wo nazar milaye begair hi
Nazdik se nikal jaatein hain.!

जो दोस्ती की बड़ी बड़ी बात करते हैं
आज वो नज़र मिलाए बगैर ही
नज़दिक से निकल जाते हैं।


Abb dosti ka naam sunte hi
Mujhe dushman yaad aa jate hai.!
 
अब दोस्ती का नाम सुन्ते ही
मुझे दुश्मन याद आ जाते हैं। 

Teri dosti mein dhoka shayari in hindi

Dosti nibhai tune aise
Phir koi sacha dost naa laga
Aur jab tune dhoka diya uske baad
Mujhe koi aur sacha dushman naa laga..!

दोस्ती निभाई तूने ऐसे
फिर कोई सच्चा दोस्त ना लगा
और जब तूने धोका दिया उसके बाद
मुझे कोई और सच्चा दुश्मन ना लगा। 


Dhokebaaz dosto ki ek nishani hai
Jarurat padne par dost keh dete hai
Warna koi puchne tak nahi aata.!

धोकेबाज़ दोस्तो की एक निशानी है
जरुरत पडने पर दोस्त कहते हैं
वरना कोई पूछने तक नहीं आता। 


Saamne aate hi dost dost kehte hai
Warna nafrat itni hai dil mee ki
Barbad karne ki soch rakhte hai

सामने आते ही दोस्त दोस्त कहते हैं
वरना नफ़रत इतनी है दिल में कि
बरबाद करने की सोच रखते हैं। 


Gairo ke saamne ache aur
Dil mee hum kharab ho gaye
Kya kare kuch log aise hi hote hai
Aese dost zindagi mee behisab ho gaye
 
गैरो के सामने अच्छे और
दिल में हम खराब हो गए
क्या करे कुछ लोग ऐसे ही होते हैं
ऐसे दोस्त जिंदगी में बेहिसाब हो गए।

गद्दार दोस्त शायरी इन हिंदी 

Hame dost banane ka aur
Dosti nibhaane ka bohot shouk tha
Jabse tera asli roop dekha hai
Kasam se apne bhi paraye se lagte hai

हमें दोस्त बनाने का और
दोस्ती निभाने का बोहोत शोक था
जबसे तेरा असली रूप देखा है
कसम से अपने भी पराए से लगते हैं। 


धोखेबाज दोस्त पर शायरी
धोखेबाज दोस्त पर शायरी

Baat buri jarur lagegi 
Kyoki mai sach hi kehta hu
Bewafa dosto ki basti se
Mai thoda dur hi rehta hu.!

बात बुरी जरूर लगेगी
क्योकी मैं सच ही कहता हूं
बेवफा दोस्तो की बस्ती से
मैं थोड़ा दूर ही रहता हूं। 


Kuch dost aise nikle jinhone 
Pyar diya
Aur kuch dost aise nikle jinhone 
Maar diya

कुछ दोस्त ऐसे निकले जिन्होंने
प्यार दिया
और कुछ दोस्त ऐसे निकले जिन्होंने
मार दिया। 

धोखेबाज दोस्त पर शायरी स्टेटस इन हिंदी 

Kuch log aadat se majbur hote hai
Matlabi dosto se hum dur hote hai

कुछ लोग आदत से मजबूर होते हैं
मतलबी दोस्तो से हम दूर होते हैं। 


Bewafa dosto ki baatein bohot
Achi aur sachi lagti hai aur jab
Ehsaas hota hai ki kya kar diya
Phir wo sath bhi nahi dete hai

बेवफा दोस्तो की बातें बोहोत
अच्छी और सच्ची लगती है और जब
एहसास होता है की क्या कर दिया
फिर वो साथ भी नहीं देते है। 


Usne humse dosti kari hi 
Issliye thi taaki
Waqt aane par wo hame
Dhoka de sake.!

उसने हमसे दोस्ती करी ही
इसलिए थी ताकी
वक्त आने पर वो हमें
धोका दे सके। 


Dosti duniya ka ek
Dhikhawa hai
Dhoka jarur milega ye
Mera dawa hai.!

दोस्ती दुनिया का एक
दिखावा है
धोका जरूर मिलेगा ये
मेरा दावा है।

मेरे दोस्त ने धोखा दिया शायरी

Zindagi jeene ka kuch 
Aisa andaaz rakhna
Matlabi dosto ko khud se
Zara door rakhna..!
 
जिंदगी जीने का कुछ
ऐसा अंदाज रखना
मतलबी दोस्तो को खुद से
ज़रा दूर रखना। 


दोस्त ने धोखा दिया शायरी
दोस्त ने धोखा दिया शायरी

Duniya mee khudgarz log bohot
Mil jaayenge
Apna maksud pura hote hi akele
Choud jaayege

दुनिया में खुदगर्ज लोग बोहोत
मिल जाएंगे
अपना मकसूद पुरा होते ही अकेले
छोड़ जाएंगे। 


Agar dost apna matlab dekhne
Lage dosti mee
Toh samajh jaana ki wo tumhe
Dhoka jarur dega 

अगर दोस्त अपना मतलब देखने
लगे दोस्ती में
तो समझ जाना की वो तुम्हे
धोका जरूर देगा। 

मतलबी दोस्त स्टेटस इन हिंदी

Mousam toh badalta rehta hai
Kismat bhi aise badal jaati hai
Dushman ko dekhaa haii maine
Dushmani nibhate hue par dost ki
Dushmani pheli dafa dekh raha hu

मौसम तो बदलता रहता है
किस्मत भी ऐसे बदल जाती है
दुश्मन को देखा है मैंने
दुश्मनी निभाते हुए पर दोस्त की
दुश्मनी पहली दफा देख रहा हूं। 


Mera toh bharosa hi utth gaya hai
Dosti vosti se aisa lagta hai saalo
Se bewakuf bana rahe the dost mujhe

मेरा तो भरोसा ही उठ गया है
दोस्ती वोस्ती से ऐसा लगता है सालो
से बेवकुफ बना रहे थे दोस्त मुझे। 


Khud se jyada kisi par aitbaar 
Mat karna
Dhoka khaya hai dosti mee 
Kai dafa
Abb dosto par kabhi vishwas
Mat karna

खुद से ज्यादा किसी पर ऐतबार 
मत करना
धोखा खाया है दोस्ती में 
कई दफा
अब दोस्तों पर कभी विश्वाश 
मत करना। 


Mehfil mee har dost ne
Apna sahi rang dikhaya hai
Kaise kari jaati hai dagabaazi
Ye hame dost ne hi sikhaya hai

महफ़िल मे हर दोस्त ने
अपना सही रंग दिखाया है
कैसे करी जाती है दग़ाबाज़ी
ये हमें दोस्त ने ही सिखाया है। 

Ek dhokebaaz dost shayari in hindi

Teri dosti ki kimat ka 
Mujhe pata chal gaya hai 
Koi do paise mee bhi nahi
Kharidega teri dosti ko..!

तेरी दोस्ती की कीमत का 
मुझे पता चल गया है 
कोई दो पैसे मै भी नहीं
ख़रीदेगा तेरी दोस्ती को।


Dosti mein dhoka shayari in hindi
Dosti mein dhoka shayari in hindi

Dhoka dekar urooj par
Jane wala dost
Ek din zami par jarur
Aakar girta hai..!
 
धोका देकर उरूज पर
जाने वाला दोस्त
एक दिन ज़मी पर जरूर
आकर गिरता है। 


Kaisi hai ye meri kismat
Maine dosto ka acha chaha hai
Par badle mee mujhe daga hi mili

कैसी है ये मेरी किस्मत
मैंने दोस्तों का अच्छा चाहा है
पर बदले में मुझे दगा ही मिली। 

बेवफा दोस्त शायरी इन हिंदी 

Dosto ne tab saath chouda mera
Jab mujhe unki jarurat ho gayi.!

दोस्तों ने तब साथ छोड़ा मेरा
जब मुझे उनकी जरुरत हो गई। 


Socha na tha ki aisa bhi hoga
Jo dost phele pyar dikhate the
Abb wo hathiyaar dikhate hai.! 

सोचा ना था की ऐसा भी होगा
जो दोस्त पहले प्यार दिखाते थे
अब वो हथियार दिखाते है।


 Khushi mee toh dushaman ko bhi
Shaamil karna padata hai
Hairani tab hoti hai jab dost hi
Dushman nikalta hai.!

ख़ुशी में तो दुशमन को भी
शामिल करना पड़ता है
हैरानी तब होती है जब दोस्त ही
दुश्मन निकलता है। 


Jinke liye kabhi hum 
Apni jaan dene ko taiyaar the
Aaj uss shaqs ne hame 
Pehchaan ne se mana kar diya

जिनके लिए कभी हम 
अपनी जान देने को तैयार थे
आज उस शक़्स ने हमें 
पेहचान ने से मना कर दिया। 

Mera matlabi dost shayari in hindi

Dosti tuti phir toot gaye hum
Phir khud se ruth gaye hum

दोस्ती टूटी फिर टूट गए हम
फिर खुद से रूठ गए हम। 


Bewafa dost shayari in hindi
Bewafa dost shayari in hindi

Jisko dost samjha wo hamare
Dushman nikle
Jisko dushman samjha wo saale 
Dost nikle.!

जिसको दोस्त समझा वो हमारे
दुश्मन निकले
जिसको दुश्मन समझा वो साले
दोस्त निकले। 


Dhoka khana dosti mein
Aajkal aam hai
Jo log nibhate hai dosti unko
Mera salaam hai

धोखा खाना दोस्ती में
आजकल आम है
जो लोग निभाते है दोस्ती उनको
मेरा सलाम है।  

Mera dhokebaaz dost shayari in hindi

Naa jane kaise wo 
Ye kaam kar paate hai
Phele dosti aur phir
Dushmani nibhaate hai

ना जाने कैसे वो 
ये काम कर पाते है
पहले दोस्ती और फिर
दुश्मनी निभाते है। 


Zara puche koi unse
Dosti ke maaine jante hai
Ya sirf dhoka dena ko
Wo dosti maante hai..!

ज़रा पूछे कोई उनसे
दोस्ती के माइने जानते है
या सिर्फ धोखा देने को
वो दोस्ती मानते है। 


Humne toh dosti bhi dekhi hai
Aur dekhe hai dhoke
Barbaad kar dete hai apne jab
Milte hai unko mouke

हमने तो दोस्ती भी देखी है
और देखे है धोके
बर्बाद कर देते है अपने जब
मिलते है उनको मौके।


Dosto ki yaari 
Dekh li
Duniya ki dildari
Dekh li
Bhai Bhai kehte hai
Jarurat mein
 Aise dosto ki makkari
Dekh li

दोस्तों की यारी 
देख ली
दुनिया की दिलदारी
देख ली
भाई भाई कहते है
जरुरत में
 ऐसे दोस्तों की मक्कारी
देख ली। 

दोस्ती टूट जाने पर शायरी

Ek rishta aisa banaya
Dost kum usse bhai banaya
Jab pata laga hame sachi dosti ka
Tab uss ne apna asli chehra dikhaya

एक रिश्ता ऐसा बनाया
दोस्त कम उसे भाई बनाया
जब पता लगा हमें सच्ची दोस्ती का
तब उसने अपना असली चेहरा दिखाया। 


खुदगर्ज दोस्त शायरी इन हिंदी
खुदगर्ज दोस्त शायरी इन हिंदी 

Mujhe dukhi dekhkar wo
Khush ho jaate hai
Kabhi humne bhi unke
Aansu puche the.! 

मुझे दुखी देखकर वो
खुश हो जाते है
कभी हमने भी उनके
आंसू पूछे थे। 


Pyar toh baad ki baat hai
Phele toh tum mere dost the
Aur aaj bhi dost ho pata nahi
Tumne mujhe dusmna kyo bana liya


प्यार तो बाद की बात है
पहले तो तुम मेरे दोस्त थे
और आज भी दोस्त हो पता नहीं
तुमने मुझे दुश्मन क्यों बना लिया।  

Sad bewafa dost shayari in hindi

Sath mein utna baitha
Khana pina karne wale
Jaruri nahi ki wo bohot
Ache dost bhi honge..!

साथ में उठना बैठना
खाना पीना करने वाले
जरुरी नहीं की वो बोहोत
अच्छे दोस्त भी होंगे। 


Dost banaao magar thodi
Duriya rakho
Naacho aur gaao magar thodi
Duriya rakho
Kya pata aapko bhi meri tarah
Dhoka mile
Sabko gale lagaao magar thodi
Duriya rakho

दोस्त बनाओ मगर थोड़ी
दूरिया रखो
नाचो और गाओ मगर थोड़ी
दूरिया रखो
क्या पता आपको भी मेरी तरह
धोखा मिले
सबको गले लगाओ मगर थोड़ी
दूरिया रखो। 


Waah mere dost waah
Kya kamal ki dosti nibhai hai
Har tarike se toone
Mujhse dushmani nibhai hai.!

वाह मेरे दोस्त वाह
क्या कमाल की दोस्ती निभाई है
हर तरीके से तूने
मुझसे दुश्मनी निभाई है। 


Zindagi mein dosti jaruri hai
Magar iska matlab ye nahi ki
Aap khudgarz logo se vaasta rakho.!

ज़िंदगी में दोस्ती जरुरी है
मगर इसका मतलब ये नहीं की
आप खुदगर्ज़ लोगो से वास्ता रखो। 

खुदगर्ज दोस्त शायरी इन हिंदी 

Kuch dost itne behraham hote hai
Sadiyo puraani dosti ko mitti mee
Milakar patthar dil ban jaate hai.!

कुछ दोस्त इतने बेरहम होते है
सदियों पुरानी दोस्ती को मिटटी में
मिलाकर पत्थर दिल बन जाते है। 


गद्दार दोस्त शायरी इन हिंदी
गद्दार दोस्त शायरी इन हिंदी 

Jis se umeed naa thi 
Uss ne zakhm diya hai
Jisko bhai samajhte the
Uss ne dhoka diya hai

जिससे उम्मीद ना थी 
उसने ज़ख्म दिया है
जिसको भाई समझते थे
उसने धोखा दिया है। 


Mujhe pata nahi ki bhagwan
Kya karvana chahta hai mujhse
Phele bewafa ladki se milaya
Uske baad bewafa dost se.! 

मुझे पता नहीं की भगवान
क्या करवाना चाहता है मुझसे
पहले बेवफा लड़की से मिलाया
उसके बाद बेवफा दोस्त से। 

Mera matlabi dost shayari in hindi

Jhooti hai teri dosti aur
Jhoota hai tera aitbaar
Chali ja meri zindagi se
Nahi chahiye tera pyaar
 
झूटी है तेरी दोस्ती और
झूठा है तेरा ऐतबार
चली जा मेरी ज़िन्दगी से
नहीं चाहिए तेरा प्यार। 


Iss baat ka gum nahi ki
Tune mujhe dhoka diya 
Balki gum toh iss baat ka hai
Maine tujhe bar bar mouka diya

इस बात का गम नहीं की
तूने मुझे धोखा दिया 
बल्कि गम तो इस बात का है
मैंने तुझे बार बार मौका दिया। 


Jis se kari thi dosti laga
Uska dil saaf hoga
Hame kya maloom tha
Wo zehrila saap hoga

जिससे करी थी दोस्ती लगा
उसका दिल साफ़ होगा
हमें क्या मालूम था
वो ज़हरीला साँप होगा। 


Dunia bohot badi hai magar
Ye baat sahi hai jyada tar
Log dhokebaaz hi honge.!

दुनिया बोहोत बड़ी है मगर
ये बात सही है ज्यादा तर
लोग धोकेबाज़ ही होंगे। 

गद्दार दोस्त शायरी इन हिंदी

Barsat ko toh hona hi tha
Jinhe kabhi garazna bhi nahi aaya
Aaj wo hame aankhe dikha rahe hai

बरसात को तो होना ही था
जिन्हे कभी गरज़ना भी नहीं आया
आज वो हमें आँखे दिखा रहे है। 


धोखेबाज दोस्त पर शायरी इन हिंदी
धोखेबाज दोस्त पर शायरी इन हिंदी

Aasaan nahi unhe maaf karna
Jo umeed hame dushman se thi
Wo saari dosto ne puri kar di

आसान नहीं उन्हें माफ़ करना
जो उम्मीद हमें दुश्मन से थी
वो सारी दोस्तों ने पूरी कर दी।


Agar dost chuno toh unhe
Ek baar parakh jaroor lena
Ek dost hi hai jinke saath hum
Sabse jyada waqt bitaate hai
 
अगर दोस्त चुनो तो उन्हें
एक बार परख ज़रूर लेना
एक दोस्त ही है जिनके साथ हम
सबसे ज्यादा वक़्त बिताते है। 

मेरे दोस्त ने धोखा दिया शायरी

Rishte aur naate saare 
Haalat badal dete hai 
Jab dosti ka zikra hota hai
Hum baat badal dete hai

रिश्ते और नाते सारे 
हालात बदल देते है 
जब दोस्ती का ज़िक्र होता है 
हम बात बदल देते है। 


Jise tum khata keh rahe ho
Wo toh sirf gaddari hai
Dosti kya cheez hoti hai
Samajh ne mee samajhdari hai

जिसे तुम खता कह रहे हो
वो तोह सिर् गद्दारी है
दोस्ती क्या चीज़ होती है
समझ ने में समझदारी है। 


Samajh nahi paye kisamt ka khel
Mujhe pareshaan karne ke liye
Dushman ko dost ka roop de diya

समझ नहीं पाए किस्मत का खेल
मुझे परेशान करने के लिए
दुश्मन को दोस्त का रूप दे दिया। 


Khud ko aaine mee 
Kaise dekhte honge wo log
Jo khud dhokebaaz hai aur
Dhokebaazi se nafrat bhi hai

खुद को आईने में 
कैसे देखते होंगे वो लोग
जो खुद धोकेबाज़ है और
धोखेबाजी से नफरत भी है। 

Sad dosti mein dhoka shayari in hindi

Kuch log hame 
Dost dost kehte the
Aaj jarurat padi toh 
Rishta hi badal diya

कुछ लोग हमें 
दोस्त दोस्त कहते थे
आज जरुरत पड़ी तो
रिश्ता ही बदल दिया। 


Kisi par jyada 
Bharosa nahi karte
Aajkal dost ke roop mee
Dushman ghoom rahe hai.!

किसी पर ज्यादा 
भरोसा नहीं करते
आजकल दोस्त के रूप में
दुश्मन घूम रहे है। 


Mat karna haatho ki
Lakiro par bharosa agar
Dost badal sakte hai toh
Phir kismat kya cheez hai

मत करना हाथो की
लकीरों पर भरोसा अगर
दोस्त बदल सकते है तो
फिर किस्मत क्या चीज़ है। 

दोस्त ने धोखा दिया शायरी

Kartut toh dekho zara dosto ki
Humse dosti nibhate nibhate 
Wo toh dushmani kar gaye 

करतूत तो देखो ज़रा दोस्तों की
हमसे दोस्ती निभाते निभाते 
वो तो दुश्मनी कर गए। 


Abhi toh hamne duniya ko 
Karib se dekhna shuru kiya tha
Par kuch logo ne dagabaazi kar di

अभी तो हमने दुनिया को 
करीब से देखना शुरू किया था
पर कुछ लोगो ने दगाबाजी कर दी। 

धोखेबाज दोस्त स्टेटस

Dhoka khaana mere liye
Koi nayi baat nahi hai
Mere liye dosti ka matlab
Dagabaazi ho gaya hai..!

धोखा खाना मेरे लिए
कोई नई बात नहीं है
मेरे लिए दोस्ती का मतलब
दग़ाबाज़ी हो गया है। 


Mera thoda sa waqt kya badla
Dosto ne apne sahi rang dikha diye
 
मेरा थोड़ा सा वक़्त क्या बदला
दोस्तों ने अपने सही रंग दिखा दिए। 

◼◼◼◼◼◼◼◼◼


Read these shayaris also:




Previous Post Next Post