Heart touching Gulzar quotes and shayari on life, love, pain in hindi:




Gulzar is one of the prominent poet, author in India, he wrote many poetries, lyrics in Hindi, Urdu and Punjabi languages. From the writings of Gulzar Shayariwallee has published best shayari, quotes, lines of gulzar in hindi and english. You can share these Gulzar shayaris on Facebook, Whatsapp, Instagram etc.

Two line gulzar shayari on life in hindi


gulzar shayari on life in hindi
gulzar shayari on life in hindi

Socho kitni khoobsurat hogi zindagi
Jab dost, mohabbat aur humsafar teeno ek hi insaan ho

सोचो कितनी खूबसूरत होगी जिंदगी 
जब दोस्त मोह्ब्बत और हमसफऱ तीनो एक ही इंसान हो। 

deep gulzar quotes on life in hindi

Galitya bhi hongi aur
Galat bhi samjha jayega
Yeh zindagi hai janab
Yaha taarife bhi hogi
Aur kosa bhi jaayega

गलतियाँ भी होंगी और
गलत भी समझा जाएगा 
यह ज़िन्दगी है जनाब
यहाँ तारीफे भी होगी
और कोसा भी जाएगा।

⚫ 

Kuch yuhi chalega tera mera 
Rishta zindagi bhar
Mil gaye toh baate lambi
Na mile toh yaade lambi

कुछ युही चलेगा तेरा मेरा 
रिश्ता ज़िन्दगी भर
मिल गए तिह बाते लम्बी
न मिले तो यादें लंबी। 

gulzar shayari on zindagi in hindi

Zindagi aur mout se kiya
Wada nibhana padega
Bas itna hi tha hamara
Safar aab jaana padega

ज़िन्दगी और मौत से किया 
वादा निभाना पड़ेगा 
बस इतना ही था हमारा
सफ़र अब जाना पड़ेगा। 


Beshak ladai kiya karo
Naraz raha karo
Zindagi hai iska bharosa nahi
Sath raha karo

बेसक लड़ाई किया करो 
नराज रहा करो
ज़िन्दगी है इसका भरोसा नहीं 
साथ रहा करो। 


deep gulzar quotes on life
deep gulzar quotes on life

Zindagi ki raaho mee
Ye hota hai
Dil mee koi aur toh
Humsafar koi aur hota hai

ज़िन्दगी की राहों मे
ये होता है
दिल मे कोई और तो
हमसफ़र कोई और होता है।

gulzar quotes on zindagi in hindi

Koi pooch raha hai mujhse aab
Meri zindagi ki kimat
Mujhe yaad aa raha hai
Halka sa muskurana tumhara

कोइ पुछ रहा है मुझसे अब 
मेरी ज़िन्दगी की किमत
मुझे याद आ रहा है
हलका सा मुसकुराना तुम्हारा। 


Koi khamoosh 
Zakhm lagti hai
Zindagi ek
Nazm lagti hai

कोइ खमोश
ज़ख्म लगती है
ज़िन्दगी एक
नज़्म लगती है। 


Khwaishe kuch iss tarah
Adhoori rahi
Pehle umra nahi thi
Aab umra nahi rahi

ख्वाइशें कुछ इस तरह 
अधूरी रही
पहले उम्र नहीं थी
अब उम्र नहीं रही। 

gulzar shayari on life in hindi

Zakhm kaha kaha se 
Mile hai mujhko
Zindagi tu toh bata
Safar aur kitna baaki hai 

ज़ख्म कहा कहा से
मिले है मुझको
ज़िन्दगी तू तो बता 
सफ़र और कितना बाकी है। 


gulzar shayari on zindagi in hindi
gulzar shayari on zindagi in hindi

Mila toh bohot kuch hai
Iss zindagi mee
Hum baat uski karte hai
Jo haasil nahi hua

मिला तो बोहत कुछ है
 इस ज़िन्दगी मे
हम बात उसकी करते है
जो हासिल नही हुआ। 

gulzar sahab quotes on life in hindi

Hum nahi maangenge zindagi
Yaa rab
Ye gunaah hamne ek baar kiya hai 

हम नहीं मांगेंगे जिंदगी
या रब
ये गुनाह हमने एक बार किया है। 


Yu toh aee zindagi
Tere safar se shikayate bahut thi
Magar dard jab darg karaane pahuche
Toh kataare bahut thi

यू तो ऐ जिंदगी
तेरे सफर से शिकायते बहोत थी
मगर दर्द जब दर्ज कराने पंहुचा
तो कतारे बहुत थी। 

gulzar shayari on zindagi in english

Thoda hai 
Thode ki jaroorat hai 
Zindagi phir bhi yaha khoobsurat hai

थोडा है
थोड़े के जरूरत है
ज़िन्दगी फ़िर भी यहा ख़ूबसूरत है। 

⬤⬤⬤⬤⬤⬤

Best gulzar love shayari in hindi


love shayari by gulzar
love shayari by gulzar

Kisi se roz milne se
Pyaar ho naa ho
Lekin kisi se roz 
baate karne se
Uski aadat jaroor ho jaati hai

किसी से रोज मिलने से
प्यार हो ना हो 
लेकिन किसी से रोज
बाते करेने से
उसकी आदत जरूर हो जाती है। 

deep gulzar quotes on love in hindi

Jaroori nahi har chahat ka
Matlab ishq hi ho
Kabhi kabhi kuch anjaan
Rishto ke liye bhi
Dil bechain ho jaata hai

जरुरत नहीं हर चाहत का 
मतलब इश्क ही हो
कभी कबी कुछ अंजान
रिश्तो के लिए भी 
दिल बेचैन हो जाता है। 


Teri aadat si ho gayi thi hame
Nahi toh maloom 
Hame bhi tha ki
Tu naseeb mee nahi

तेरी आदत सी हो गई थी हमें 
नहीं तो मालुम 
हमें भी था की 
तू नसीब मे नहीं। 


Mat pucho kaise guzarta hai
Har pal tumhare bina
Kabhi baat karne ki hasrat
Toh kabhi dekhne ki tamanna

मत पूछो कैसे गुज़रता है 
हर पल तुम्हारे बिना 
कभी बात करने की हसरत
तो कभी देखने की तमन्ना। 

gulzar romantic shayari in hindi

Itne bewakoof nahi hai
Jo tumhe bhool jayenge
Aksar choop rehne wale
Pyar bohot karte hai

इतने बवकूफ नहीं है
जो तुम्हे भूल जाएंगे 
अक्सर चुप रेहने वाले
प्यार बोहोत करते है। 


Maana ki teri nazar mee
Kuch nahi hu main
Meri kadar unse pucho
Jinko palat kar kabhi nahi
 Dekha maine sirf tumhare liye

माना की तेरी नज़र में
कुछ नही हु मैं 
मेरी कदर उनसे पूछो 
जिनको पलट कर कभी नहीं 
देखा मैंने सिर्फ तम्हारे लिए। 

love shayari by gulzar

Zara zara si baat par
Takaraar karne lage ho
Lagta hai mujhse
Beinteha pyar karne lage ho

ज़रा ज़रा सी बात पर 
तकरार करने लगे हो
लगत है मुझसे
बेइन्तेहा प्यार करने लगे हो। 


romantic shayari of gulzar
romantic shayari of gulzar

Tujhse naraz hokar tujhse hi
Baat karne ka mun 
Yeh dil ka silsila bhi
Kabhi naa samajh paaye hum

तुझसे नाराज़ होकर तुझसे ही
बात करने का मन
ये दिल का सिलसिला भी
कभी ना समझ पाए हम। 

deep gulzar love quotes in hindi

Kharidaar bohot the
Iss dil ke
Beech dete agar isme
Tum naa hote

ख़रीदार बोहोत थे 
इस दिल के 
बेच देते अगर इसमें 
तुम ना होते। 


Gazab ki mohabbat hai wo 
Jisme sath rehne ki 
Umeed bilkul bhi naa ho 
Phir bhi pyar beshumar ho

गज़ब की मुहब्बत है वो
जिसमे साथ रहने की 
उम्मीद बिलकुल भी न हो
फिर भी प्यार बेशुमार हो।  


Bitaane ko ek umra
Hai tere bina aur
Gujarta toh ek
 Lamha bhi nahi

बीताने को एक उम्र 
है तेरे बीना और
गुजरता तो एक
लम्हा भी नहीं। 

love romantic shayari of gulzar

Hogi kitni chahat
Uss dil mee
Jo khud hi maan jaye
Kuch pal khafa hone ke baad

होगी कितनी चाहत 
उस दिल में 
जो खुद् ही मान जाए 
कुछ पल खफा होने के बाद। 


Phir wahi shikayatein
Sharte aur itni paabandi
Janab ishq karte ho ya phir ehsaan

फ़िर वही शिकायते
शरते और इतनी पाबंदी
जनाब इश्क़ कुरते हो या फिर एहसान। 

gulzar love shayari

Maloom hai mujhe ki 
Ye mumkin nahi magar
Ek aasha si rehti hai
Ki tum mujhe yaad karoge

मालूम है मुझे की
ये मुमकिन नहीं मगर
एक आषा सी रहती है
कि तुम मुझे याद करोगे। 


gulzar love shayari in hindi
gulzar love shayari in hindi

Haal aisa hai mera ki
Tere hi gale lag kar
Teri hi shikayat karni hai mujhe

हाल एसा है मेरा की 
तेरे ही गले लग कर
तेरी ही शिकायत करनी है मुझे।

gulzar quotes in hindi

Tu hazaar baar ruthe toh
Mana lu tujhe
Magar dekh mohabbat mee
Shaamil koi dusra naa ho

तू हज़ार बार रूठे तो
मना लू तुझे 
मागर देख मोहब्बत मे
शामिल कोई दूसरा ना हो। 


Chahne wale milte rahenge
Tujhe saari umra
Bas tu kabhi jise bhool naa paaye
Wo chahat yakenan hamari hogi

चाहने वाले मिलते रहंगे
तुझे सारी उम्र 
बस तू कभी जिसे भूल ना पाए 
वो चाहत यकीनन हमारी होगी। 


Surat toh phir bhi surat hai
Mujhe toh tere naam ke 
Log bhi ache lagte hai

सुरत तो फिर भी सुरत है
मुझे तो तेरे नाम के
लोग भी अच्छे लगते हैं। 

gulzar shayari on ishq

Jo lamhe taqdeer mein 
Likhe nahi hote
Unhi ki aarzo ko  
Ishq kehte hai...!

जो लम्हे तक़दीर में
लखे नहीं होते 
उन्ही की आरज़ू को
इश्क कहते है। 


Har mohabbat kammiyaab ho 
Ye jaroori toh nahi
Aakhir misaale toh
Adhoore ishq ki di jaati hai

हर मुहब्बत कामियाब हो
ये जरूरी तो नहीं
आखिर मिसाले तो
अधूरे इश्क की दी जाती है। 


Kuch mohabbat sahi shaqs se
Galat waqt par galat umra mee ho jaati hai...!

कुछ मुहब्बत सही शक्स से
गलत वक़्त पर गलत उम्र मे हो जाती है ...!

gulzar shayari on mohabbat

Door reh kar bhi wo shaqs 
Samaya hai meri rooh mee
Kareeb rehne walo par wo
Kitna asar rakhta hoga

दूर रह कर भी वो शक्स
समाया है मेरी रूह मे
करीब रहने वालो पर वो
कितना असर रखता होगा। 


gulzar love quotes in hindi
gulzar love quotes in hindi

Mohabbat toh 
Chota sa shabd hai
Meri toh jaan basti hai
Aap mee

मोहब्बत तो
छोटा सा शब्द है
मेरी तो जान बस्ती है
आप में। 


Neend udakar meri
Kehte hai wo ki
So jao kal baat karenge
Aab wo hi hame samjhaye
Kal tak hum kya karenge

नींद उडाकर मेरी
कहते हैं वो की 
सो जाओ कल बात करगें
अब वो ही हमें समझाए 
कल तक हम क्या करेंगे। 

gulzar shahab ki shayari in hindi

Tum mere ghar ke saamne rehti toh
Itna gazab ho jaata 
Ki do chat ki doori se
Mujhe chand nazar aata

तम मेरे घर के सामने रहती तो
इतना गजब हो जाता
की दो छत की दूरी से 
मुझे चाँद नज़र आता। 


Mujhe aadat nahi
Yu har kisi pe marne ki
Par tujhe dekhkar dil ne
Sochne tak ki mohlat nahi di

मुझे आदत नहीं 
यू हर किसी पे मरने की
पर तुझे देखकर दिल ने
सोचने तक की मोहलत नही दी। 


Mohabbat ke bazaar mee
Husn walo ki
Jaroorat nahi hoti
Jis pe dil aa jaaye
Wahi khaas hota hai

मोहब्बत के बाज़ार मे
हुसन वालो की
जरुरत नहीं होती 
जिस पे दिल आ जाए 
वही ख़ास होता है। 

gulzar quotes on love in hindi

Tere muskurane ka asar
Sehat par hota hai
Log pooch lete hai
Dawa ka naam kya hai

तेरे मुसकुराने का असर
सेहत पर होता है
लोग पूछ लेते है
दाव का नाम क्या है। 


Ye ishq mohabbat ki
Rivayat bhi ajeeb hai
Paaya nahi hai jisko
Usse khona bhi nahi chahte

ये इश्क मुहब्बत की 
रिवायत भी अजीब है
पाया नहीं है जिसको
उसे खोना भी नहीं चाहते। 

⬤⬤⬤⬤⬤⬤

Best gulzar shayari on dosti in hindi


gulzar shayari on friendship
gulzar shayari on friendship

Thodi thodi gooftagu
Karte rahiye dosto se
Jaale lag jaate hai
Band kamro mee

थोड़ी थोड़ी गुफ़्तगू 
करते रहिए दोस्तो से
जाले लग जाते है
बंद कमरो मे। 

gulzar quotes on friendship in hindi

Pyar chodo tum mere dost
Hi bane raho
Suna hai pyar mukar jaata hai
Lekin yaar nahi

प्यार छोड़ो तुम मेरे दोस्त
ही बने रहो
सुना है प्यार मुकर जाता है
लेकिन यार नहीं। 


Mere ghaav par kuch
Aese namak lagaati hai wo
Ishq ki baat karke
Dost bulaati hai wo

मेरे घाव पर कुछ 
ऐसे नमक लगाती है वो
इश्क की बात करके
दोस्त बुलाती है वो। 


Milne jo chala
Dushmano ke ghar
Apne hi dosto se 
Mulakaat ho gayi

मिलने जो चला 
दुशमनो के घर
अपने ही दोस्तो से
मुलाकात हो गई। 

gulzar shayari on friendship in hindi

Jiski subah aachi
Uska din acha
Jiski shaam achi
Uski raat achi
Jiska dost acha
Uski zindagi achi..!

जिसकी सुबह अच्छी 
उसका दिन अच्छा 
जिसकी शाम अच्छी 
उसकी रात अच्छी
जिसका दोस्त अच्छा  
उसकी ज़िन्दगी अच्छी।


Dosti ke baad mohabbat 
Ho sakti hai
Mohabbat ke baad 
Dosti nahi
Kyoki dawa marne ke pehle
Kaam aati hai
Marne ke baad nahi

दोस्ती के बाद मोहब्बत
हो सकती  है
मोहब्बत के बाद
दोस्ती नहीं
क्योकि दवा मरने के पहले 
काम करती है
मरने के बाद नहीं। 


Bewajah hai tabhi toh dosti hai
Wajah hoti toh shaazaish hoti

बेवजह है तभी तो दोस्ती है 
वजह होती तो शाज़िश होती। 

dosti shayari by gulzar

Gaye the sochkar
Ki baat bachpan ki hogi
Magar dost mujhe apni taraaki 
Bataane lage

गए थे सोचकर 
की बात बचपन की होगी 
मगर दोस्त मुझे पनी तरकी
बताने लगे।

⚫ 

gulzar quotes on friendship
gulzar quotes on friendship 

Sochta hu dosto par
Mukadma kar du
Issi bahaane taarik par
Mulaakat toh hogi

सोचता हू दोस्तो पर
मुकदमा कर दू
इसी बहाने तारिक पर
मुलाकात तो होगी। 

gulzar shayari for friends

Dosti rooh mee utra hua
Rishta hai sahab
Mulakaate kum hone se
Dosti kum nahi hoti

दोस्ती रूह मे उतरा हुआ
रिशता है साहब
मुलाकात कम होन से
दोस्ती कम नही होती। 


Zindagi aur umra mee
bas itna fark hai
Jo dosto bin beete wo umra
Aur jo dosto sang beete wo zindagi

ज़िन्दगी और उम्र में 
बस इतना फर्क है
जो दोस्तो बिन बीते वो उम्र
और जो दोस्तो संग बीते वो ज़िंदगी। 


Kumjoriya mat khoj 
Mujh mee mere dost
Ek tu bhi shaamil hai 
Meri kumjoriyo mee

कमजोरिया मत खोज 
मुझ मे मेरे दोस्त 
एक तू भी शमिल है 
मेरी कमजोरियो मे। 

friendship quotes by gulzar

Bhaari mehfil mee dosti ka
Zikra hua
Hamne toh bas tumhari aur dekha
Aur log waah waah karne lage

भारी महफ़िल में दोस्ती का
ज़िक्र हुआ
हमने तो बस तुम्हारी और देखा
और लोग वाह वाह करन लागे। 


Jab dost taraki kare toh
Fakra se kaho wo mere dost hai
Aur jab dost musibat mee ho toh
Fakra se kaho main uska dost hu

जब दोस्त तरकी करे तो
फक्र से कहो वो मेरे दोस्त है
और जब दोस्त मुसीबत मे हो तो
फक्र से कहो मैं उसका दोस्त हु। 


Teri dosti ke 
deewane Hai
Isiliye Haath faila diya
Varna hum toh khud ki
Zindgi ke liye bhi dua 
nahi karte..!

तेरी दोस्ती के 
दीवाने है
इसलिए हाथ फैला दिया 
वरना हम तो खुद की
ज़िन्दगी के लिए भी दुआ
नहीं करते। 

gulzar shayari on dosti in hindi

Ae Dost
Choti si baat par naaraz 
Mat hona
Bhool ho jaaye toh maaf 
Kar dena
Naaraz tub hona jab rishte 
Toot jaaye
Kyuki aisa tub hoga jab hum duniya 
Chod denge

ए दोस्त
चोटी सी बात पर नाराज़
मत होना
भूल हो जाए तो माफ़
कर देना
नाराज तब होना जब रिशते
टूट जाए 
क्युकी ऐसा तब होगा जब हम दुनिया 
छोड़ देंगे। 


gulzar shayari on dosti
gulzar shayari on dosti

Fark toh apni apni 
soch ka hai
Warna dosti bhi mohabbat se 
kum nahi..!

फर्क तो अपनी अपनी 
सोच का है
वरना दोस्ती भी मोहब्बत से 
कम नहीं। 

gulzar shayari on friendship in hindi

Wakt, dost aur rishte
Wo cheeze hai jo hame muft milti hai
Par inki kimat ka pata tub chalta Hai
Jab ye kahi kho Jaate hai

वक़्त, दोस्त और रिशते
वो चीजे है जो हमें मुफ़्ती मिलती है
पर इनकी किमत का पता तब चलता है
जब ये कही खो जाते है। 


Aee khuda teri 
adalat mee meri 
jamanat rakhna
Main raho ya naa rahu 
mere dosto ko 
salamat rakhna..!

ऐ खुदा तेरी 
अदलात मे मेरी 
जमानत रखना 
मैं रहु या ना रहु 
मेरे दोस्तो को 
सलामत रखना। 


Dosti mein dard 
mile toh kya hua
Dard mee hi asli dosti ki 
pehchaan hoti hai

दोस्ती में दर्द 
मिले तो क्या हुआ
दर्द में ही असली दोस्ती की 
पहचान होती है। 

gulzar quotes on friendship in hindi

Jab baat dosti ki ho toh 
mujhe mat tookna
Aur tumhare liye toh main 
duniya bhi chod dunga
Apne dosto ko Chod dunga ye 
Kabhi mat sochna

जब बात दोस्ती की हो तो
मुझे मत टोकना 
और तुम्हारे लिए तो मैं 
दुनिया भी छोड़ दूंगा 
अपने दोस्तो को छोड़ दूंगा ये 
कभी मत सोचना। 

Best gulzar sad shayari in hindi


gulzar sad shayari in hindi
gulzar sad shayari in hindi

Naa jane kyu bas jaate hai
Dil mein bina ijaazat liye wo log
Jinhe hum zindagi mein kabhi nahi paa sakte

ना जाने क्यू बस जाते है
दिल मे बिना इजाज़त लिए वो लोगे
जिन्हे हम जिन्दगी में कभी नहीं पा सकते। 

gulzar sad quotes

Pata hai taqleef kya hai
Kisi ko chahna
Phir usse kho dena 
Aur khamosh ho jaana

पता है तकलीफ क्या है
किसी को चाहना 
फिर उसे खो देना
और खामोश हो जाना। 

gulzar breakup shayari

Chod do ye bahane
Jo tum karte ho
Hame bhi ache se maloom hai
Majbooriya tabhi aati hai
Jab dil bhar gaya ho

छोड़ दो ये बहाने 
जो तुम करते हो
हमे भी अच्छे से मालूम है
मजबूरिया तभी आती है
जब दिल भर गया हो। 


Muskuraane se shuru aur
Rulane par khatam 
Ye wo jurm hai jise
Log mohabbat kehte hai

मुसकुराने से शूरु और
रुलाने पर ख़त्म 
ये वो जुर्म है जिसे 
लोग मुहब्बत कहते है। 

two line gulzar shayari

Saari hade paar ki
Kabhi hamne bhi
Kisi ke liye
Aaj usi ne sikha diya
Hud mee rehna...!

सारी हदे पार की
कभी हमने भी 
किसी के लिए 
आज उसी ने सीखा दिया 
हद में रहना। 


Taqleef ye nahi ki 
Tumhe aziz koi aur hai
Dard tab hua jab
Hum nazar andaaz kiye gaye

तक़लीफ़ ये नहीं की
तुम्हे अज़ीज़ कोई और है
दर्द तब हुआ जब
हम नज़र अंदाज़ किए गए। 


sad shayari by gulzar
sad shayari by gulzar

Tum jaante ho mere
Dil ki baat
Khair chodo
Jaante toh mere hote....!

तुम जानते हो मेरे 
दिल की बात
खैर छोड़ो 
जानते तो मेरे होते। 

sad shayari by gulzar

Meri kadar tujhe uss din
Samajh aayegi
Jis din tere paas dil toh
Hoga magar dil se chahne
Wala koi nahi hoga

मेरी कदर तुझे उस दिन 
समझ आएगी 
जस दिन तेरे पास दिल तो
होगा मगर दिल से चाहने 
वाला कोई नही होगा। 


Agar tum samajh paate 
Meri chahat ki inteha
Toh hum tumse nahi
Tum hamse mohabbat karte

आगर तुम समझ पाते 
मेरी चाहत की इंतेहा 
तो हम तुमसे नही
तुम हमसे मोहब्बत करते। 


Tumhi ne safar karvaya tha
Mohabbat ki kashti pe
Aab nazar naa pher
Mujhe doobta hua bhi dekh

तुम्ही ने सफ़र करवाया था 
मोहब्बत की कश्ती पे
अब नजर न फेर
मुझे डूबता हुआ भी देख। 

gulzar ki sad shayari

Thukaraya hamne bhi bohoto ko hai
Tere khaatir
Tujhse faasala bhi shayad unki
Baduao ka asar hai...!

ठुकराया हमने भी बोहोतो को है
तेरे खातिर
तुझसे फ़ासला भी शयाद अनकी
बदुआओ का सर है। 


Bohot taqleef hoti hai
Jab dono taraf se 
Pyar ho lekin
Kismat mee milna naa ho

बोहोत तक़लीफ़ होती है
जब दानो तरफ से
प्यार हो लेकिन
क़िस्मत में मिलना ना हो। 


gulzar sad love shayari
gulzar sad love shayari

Nahi mila koi
Tum jaisa aaj tak
Par ye sitam alag hai
Ki mile tum bhi nahi...!

नहीं मिला कोई 
तुम जैसा आज तक
पर ये सितम अलग है
कि मिले तुम भी नहीं। 

gulzar sad status

Kis mukaam par le aayi hai 
Ye mohabbat hame
Usse paaya bhi nahi jaata
Aur bhulaya bhi nahi jaata

किस मुकाम पर ले आई है
ये मोहब्बत हमे
उसे पाया भी नहीं जाता 
और भुलाया भी नहीं जाता।


Kyo karte ho hamse
Itni khamoosh mohabbat 
Log samajhte hai iss
Badnaseeb ka koi nahi

क्यो करते हो हमसे
इतनी खामोश मुहब्बत
लोग समझते है इस 
बदनसीब का कोई नहीं। 


Tumhi se roothkar
Tumhe hi sochte rehna
Mujhe toh theek se
Naraz hona bhi nahi aata

तुम्ही से रूठकर 
तुम्हे ही सोचते रहना 
मुझे तो ठीक से
नराज होना भी नहीं आता। 

gulzar sad love shayari

 Kisi ko kya bataye
Kitne majboor hai hum
Chaha tha sirf ek tumko
Aur aab tumse hi door hai hum

किसी को क्या बताए 
कितने मज़बूर है हम
चाहा था सिर्फ एक तुमको 
और अब तुमसे ही दूर है हम। 


Sirf toone hi kabhi mujhko
Apna nahi samjha
Zamana toh aaj bhi
Mujhe tera diwaana kehta hai

सिर्फ तूने ही कभी मुझको 
अपना नहीं समझा 
ज़माना तो आज भी
मुझे तेरा दिवाना कहता है। 


gulzar sahab sad shayari
gulzar sahab sad shayari

Kuch zakhm insaan ke 
Kabhi nahi bharte
Bas insaan unhe chupaane ka 
Hunar sikh jata hai

कुछ ज़ख्म इंसान के 
कभी नहीं भरते 
बस इंसान उन्हें छुपाने का 
हुनर सिख जाता है। 

gulzar sahab sad shayari

Nafrat bhi nahi 
Gussa bhi nahi hu
Par teri zindagi ka
Aab hissa bhi nahi hu


नफ़रत भी नहीं
गुसा भी नहीं हु
पर तेरी जिंदगी का
अब हिस्सा भी नहीं हु। 


Kabhi kabhi bohot
Sataata hai mujhe ye sawal
Hum mile hi kyo the
Jab milna hi nahi tha

कभी कभी बोहोत
सताता है मुझे ये सवाल 
हम मिले ही क्यों थे 
जब मिलना ही नही था। 


Naraz toh nahi the 
Tere jaane se magar
Hairaan the ki tume
Mudkar dekha tak nahi

नराज तो नही थे
तेरे जाने से मगर
हैरान थे की तुमने 
मुक्क़दर देखा तक नहीं। 

sad shayari of gulzar in hindi

Rahegi taqdeer se ek
Shikayat hamesha
Jise umra bhar chaha
Usi ko umra bhar tarse

रहेगी तक़दीर से एक 
शिकायत हमेंशा
जिसे उम्र भर चाहा 
उसी को उम्र भर तरसे। 


Ek umra gawa di hamne
Teri chahat mee
Bohot khushnaseeb honge
Tujhe muft mee paane wale

एक उम्र गवा दी हमने
तेरी चाहत मे
बोहोत खुशनसीब होंगे 
तुझे मुफ़्त मे पाने वाले। 


sad shayari of gulzar
sad shayari of gulzar

Maine sirf tumhare kadam gine the
Tumhare kadmo ki aahat suni thi
Tumne aana chod diya magar
Maine intezar karna nahi choda

मैंने सिर्फ तुम्हारे कदम गिने थे 
तम्हारे कदमो की आहट सुनी थी
तुमने आना छोड़ दिया मगर 
मैंने इंतज़ार करना नहीं छोड़ा।

gulzar emotional shayari

So jaao 
Sab taqleef ko
Sirhaane rakh kar
Kyoki
Subha uthte hi inhe
Phir se gale lagaana hai

सो जाओ
सब तकलीफ को
सिरहाने रख कर
क्योकि 
सुबह उठते ही इन्हे
फिर से गले लगाना है। 


Teri duniya ka yeh dastoor bhi
Ajeeb hai aee khuda
Mohabbat unko milti hai
Jinhe karni nahi aati

तेरी दुनिया का ये दस्तूर भी
अजीब है ऐ खुदा
मोहब्बत उनको मिलती है
जिन्हे करनी नहीं आती। 


Khush toh wo rehte hai jo
Jismo se mohabbat karte hai
Rooh se mohabbat karne walo ko
Aksar tadapte hi dekha hai

ख़ुश तो वो रहते हैं जो 
जिस्मो से मोहब्बत करते है
रूह से मोहब्बत करने वालो को
अक्सर तड़पते ही देखा हैं। 

broken heart shayari by gulzar

Wo aaj karte hai
Nazar andaaz toh bura kya maanu
Toot kar paagalo ki tarah
Mohabbat bhi toh sirf maine ki thi

वो आज करते हैं
नज़र अंदाज़ तो बुरा क्या मानु 
टूट कर पागलो की तरह
मोहब्बत भी तो सिर्फ मैंने की थी। 

⬤⬤⬤⬤⬤⬤

Best gulzar motivational shayari in hindi


motivational shayari by gulzar
motivational shayari by gulzar

Kabhi bhi apne hunar par
Ghamand mat kar
Kyoki pathar jab paani mee girta hai
Toh khud ke wajan se hi doobta hai...!

कभी भी अपने हुनर पर 
घमण्ड मत कर 
क्योकि पत्थर जब पानी में गिरता है
तो खुद के वजन से ही डूबता है 

gulzar motivational quotes in hindi

Ghar gulzar, sune seher
Basti basti mee
Kaid har hasti ho gayi
Aaj phir zindagi mehengi
Aur doulat sasti ho gayi

घर गुलज़ार, सुने शहर 
बस्ती बस्ती मे
कैद हर हस्ती हो गई 
आज फिर ज़िन्दगी महंगी
और दौलत सस्ती हो गई। 


Uljhane bhi 
Mithi ho sakti hai
Jalebi iss baat ki misaal hai

उलझने भी 
मीठी हो सकती है
जलेबी इस बात की मिसाल है। 


Bheed kaafi hua karti thi
meri zindagi mee bhi
Phir main sach bolta gaya
aur log uthte chale gaye

भीड़ काफ़ी हुआ करती थी
मेरी जिन्दगी मे भी 
फिर मैं सच बोलता गया
और लोग उठते चले गए। 

motivational shayari by gulzar

Milo ka safar
Pal mee barbaad kar gaya
Uska ye kehna
Kaho kaise aana hua...!

मिलो का सफर
पल मे बरबाद कर गया
उसका ये कहना
कहो कैसे आना हुआ। 


motivational quotes by gulzar
motivational quotes by gulzar

Hamesha apni
Choti choti galti se bacho
Kyuki insaan pahad se nahi
Patthar se takrata hai

हमेशा अपनी 
छोटी छोटी गलती से बचो
क्योकि इंसान पहाड़ से नहीं 
पत्थर से टकराता है। 

gulzar inspirational quotes

Zindagi saari umra sambhalti rahi
Do paav par
Mout ne aate hi kaha
Mujhe chaar kandhe chahiye

ज़िन्दगी सारी उम्र संभालती  रही
दो पाव पर
मौत ने आते ही कहा 
मुझे चार कंधे चाहिए। 


Ghutana kya cheez hai
Ye puchiye uss bache se
Jo kaam karta hai roti ke liye
Khilone ki dukaan par

घुटना क्या चीज़ है
ये पूछिए उस बच्चे से
जो काम करता है, रोटी के लिए
खिलोने की दुकान पर। 


Thoda sa rafu karke ke
Dekhiye naa
Phir se nayi si lagegi
Zindagi toh hai...!

थोड़ा सा रफू करके के
देखिए ना
फिर से नई लगेगी 
ज़िन्दगी तो है। 

gulzar shayari motivational

Ek naa ek din haasil 
Kar hi lunga manzil
Thokare zeher toh nahi
Jinhe khaa kar mar jaunga...!

एक ना एक दिन हासिल 
कर ही लुंगा मंज़िल
ठोकरे जहर तो नही
जिन्हे खा कर मर जाउंगा। 

⬤⬤⬤⬤⬤⬤

Best gulzar shayari on eyes


gulzar shayari on eyes
gulzar shayari on eyes

Aankhe thi jo
Kehe gayi sab kuch
Warna lafz hote
Toh mukar jaate..!

आंखे थी जो
कह गइ सब कुछ 
वर्ना लफ़्ज़ होते 
तो मुक़र जाते। 


Honto ne saari baatein
Chupa kar rakhi
Aankho ko ye hunar
Kabhi aaya hi nahi...!

होंटो ने सारी बाते 
चूपा कर रखी
आंखो को ये हुनर 
कभी आया ही नहीं। 


Kabhi toh chook kar
Dekhe wo hamari taraf
Kisi ki aankho mee hame
Bhi wo intezar mile...!

कभी तो चोक कर
देखे वो हमारी तरफ
किसी की आँखों मे हमे
भी वो इंतज़ार मिले .

shayari on eyes by gulzar

Aapki aankho mee
Kuch mehke hue raaz hai
Aapse bhi sunder 
Aapke andaaz hai...!

आपकी आंखो मे
कुछ महके हुए राज़ है
आपसे भी सुन्दर
आपके अंदाज़ है। 


Dhadkan sambhalu ya
Saans kaabu mee karu
Tujhe nazarbhar dekhne mee
Aafat bohot hai

धड़कन संभालू या
सांस काबु मे करु
तुझे नज़रभर देखने मे
आफत बोहोत है। 


shayari on eyes by gulzar
shayari on eyes by gulzar

Meri aankhe tere andeer reheti hai
Maine tujhko tujhse behter dekha hai

मेरी आंखे तेरे अंदर रहती है
मैंने तुझको तुझसे बहतर देखा है। 


Kabhi kabhi pehli nazar 
Kuch aese rishte bana leti hai
Jo aakhri saans tak
Chotaane se nahi chootate

कभी कभी पहली नज़र
कुछ ऐसे रिशते बना लेती है
जो आखरी सांस तक
छुटाने से नहीं छूटते। 

gulzar shayari on eyes

Rahe dooriya 
Toh kya hua
Yaad nazaro se nahi
Dil se kia jaata hai

रहे दूरिया 
तो क्या हुआ
याद नज़रो से नहीं
दिल से किया जाता है। 


Shaam se aankh mee 
nami si hai
Aaj phir aapki 
kami si hai

शाम से आंख में 
नमी सी है
अज फिर आपकी 
कमी सी है। 

Gulzar best lines in hindi


deep gulzar quotes
deep gulzar quotes

Dooriyo ka gum nahi
Agar faasle dil mee naa ho
Nazdikiya bekar hai agar
Jagah dil mee naa ho

दूरियों का गम नहीं
अगर फासला दिल मे ना हो
नज़दीकिया बेकर है अगर
जगह दिल में ना हो। 

gulzar shayari in hindi

Aaa likh du kuch
Tere baare mein
Mujhe pata hai ki yu rooz
Dhoondti hai khud ko
Mere alfaazo mee

आ लिख दू कुछ 
तेरे बारे में
मुझे पता नहीं है यू रोज
ढूंढ़ती है खुद को
मेरे अल्फाजो मे। 


Tu aaye aur lipat jaaye mujhse
Uff
Ye mere mehenge mehenge khwaab..! 

तू आए और लिपट जाए मुझसे 
उफ़
ये मेरे मेहेंगे मेहेंगे ख्वाब। 


Naa hak do itna ki 
Taqleef ho tumhe
Naa waqt do itna ki
Guroor ho hame

ना हक दो इतना की 
तक्लीफ़ हो तुम्हे 
ना वक़्त दो इतना की
गुरूर हो हमें। 

gulzar ki shayari

Kuch toh khaas hai jo
Tujhe mujhse jode rakhta hai
Warna itna maaf toh
Maine khud ko bhi nahi kiya

कुछ तो ख़ास है जो
तुझे मुझसे जोड़े रखता है
वर्ना इतना माफ़ तो
मैंने खूद को भी नहीं किया। 


Kaun kehta hai hum jhoot nahi bolte
Ek baar khariyat toh pooch kar dekhiye..!

कौन कहता है हम झूट नहीं बोलते
एक बार खैरियत तो पुछ कर देखिए। 


Ye shikayat nahi 
tajurba hai
Kadar karne walo ki 
koi kadar nahi karta...!

ये शिकायत नहीं 
तजुर्बा है
कदर करने वालो की 
कोई कदर नहीं करता। 

deep gulzar quotes

Kaun kehta hai 
Dil do nahii hote
Pati ki dehliz par baithi
Baap ki beti se pucho

कौन कहता है 
दिल दो नहीं होते 
पति की दहलीज़ पर बैठी 
बाप की बेटी से पूछो। 


Mujhe talash thi ki koi 
Mujh jaisa mile
Kya khabar thi
Iss talash mee tum ho....!


मुझे तलाश थी की कोई 
मुझ जैसा मिले 
क्या ख़बर थी
इस तलाश में तुम हो। 


Leheza shikayat ka tha
Magar saari mehefil
Samajh gayi mamala
Mohabbat ka hai

लहजा शिकायत का था 
मगर सारी महफिल
समुझ गई मामला
मोहब्बत का है। 

gulzar sahab best lines

Kis baat ki saza de rahe ho
Pyar kiya isliye ya
Tumse jyada kiya isliye

किस बात की सजा दे रहे हो
प्यार किया इसलिए या 
तुमसे ज्यादा किया इसलिए। 


Kisi ki aadat ho jaana
Pyar hone se bhi khatarnak hai...!
  
किसी की आदत हो जाना
प्यार होने से भी ख़तरनाक है ...!


Jinki aap kadar nahi 
Kar rahe hai naa
Yakeen maano
Kuch log unhe
Duao mee maang rahe hai

जिनकी आप कदर नहीं
कर रहे है ना 
यकीन मानो 
कुछ लोग उन्हें 
दुआओ में मांग रहे है। 



Kitne ajeeb hote hai 
Ye mohabbat ke rivaaz bhi
Log aap se tum, tum se jaan
Aur jaan se anjaan ban jaate hai

कितने अज़ीब होते है
ये मुहब्बत के रिवाज भी 
लोग आप से तुम, तुम से जान
और जान से अंजान बन जाते है। 


Kuch shikayate bani rahe 
Toh behter hai
Chashaani mee dube rishte
Wafadar nahi hote

कुछ शिकायते बनी रहे
तो बेहतर है
चासनी मे डूबे रिश्ते 
वफ़ादार नहीं होते। 


best gulzar shayari in hindi
best gulzar shayari in hindi

Kisi ki aadat ban jao
Mohabbat apne aap ho jayegi

किसी की आदत बन जाओ
मोहब्बत अपने आप हो जाएगी। 

gulzar famous lines

Kisi ne thoda sa apna
Waqt diya tha mujhe
Maine aajtak usse ishq
Samajh kar sambhal rakha hai

किसी ने थोडा सा अपना
वक़्त दिया था मुझे 
मैंने आजतक उसे इश्क़ 
समझ कर संभाल रखा है। 


Thoda sukoon bhi dhoondiye janab
Ye jaroorate toh kabhi poori nahi hogi...!

थोड़ा सुकून भी ढूंढिए जनाब
ये जरूरतें तो कभी पूरी नहीं होंगी। 


Mukamal naa sahi
Adhoora hi rehne do
Ishq ishq hai 
Koi maksad toh nahi

मुकमल ना सही
अधूरा ही रहने दो 
इश्क इश्क है
कोइ मकसद तो नहीं। 

gulzar shayari on life 

Mohabbat zindagi badal deti hai
Mil jaye tab bhi
Aur naa mile tab bhi

मोहब्बत ज़िन्दगी बदल देती है
मिल जाए तब भी
और ना मिले तब भी। 


Simatate ja rahe hai dil
Aur jazbaato ke rishte
Souda karne mee jo mahir hai
Bas wahi kaamiyaab hai

सिमटते जा रहे है दिल
और जज्बातो के रिश्ते 
सौदा करने में जो माहिर है
बस वही कामियाब है। 


Jaha kadar naa ho
Waha jana fizool hai
Chahe kisi ka ghar ho
Ya kisi ka dil

जहा कदर ना हो
वहा जाना फ़िज़ूल है
चाहे किसी का घर हो
या किसी का दिल। 

gulzar best lines in hindi

Insaan bohot khudgarj hai
Pasand kare toh
Buraiya nahi dekhta
Nafrat kare toh
Achaiya nahi dekhta...!

इंसान बोहोत खुदगर्ज है
पसंद करे तो
बुराईया नहीं देखता
नफ़रत करे तो
अछाईया नहीं देखता। 


Aab usse naa sochu toh jism
Tootne lagta hai
Ek waqt guzra hai
Uske naam ka nasha karte karte

अब उसे ना सोचू तो जिस्म
टूटने लगता है 
एक वक़्त गुज़रा है 
उसके नाम का नशा करते करते। 


Agar nibhane ki chahat 
Dono taraf se ho
Toh koi bhi rishta
Kabhi khatm nahi hota

अगर निभाने की चाहत 
दोनों तरफ से हो 
तो कोई भी रिश्ता 
कभी ख़त्म नहीं होता। 

gulzar shayari on love

Tum uljhe rahe
Hame aazmane mee
Aur hum hud se guzar gaye 
Tumhe chahne mee

तुम उलझे रहे
हमें आज़माने में 
और हम हद से गुज़र गए
तुम्हे चाहने मे।
 

Humne socha tha ki
Batayenge dil ka dard tumko
Par tumne itna bhi naa pucha
Ki khamoosh kyo ho

हमने सोचा था की 
बताएंगे दिल का दर्द तुमको 
पर तुमने इतना भी ना पूछा
की खामोश क्यों हो। 


Ek tarfa mohabbat mee
Log badnaam nahi hote
Bas isi baat ka 
Sukoon hai mun ko

एक तरफा मुहब्बत मे
लोग बदनाम नहीं होते 
बस इसी बात का
सुकुन है मन को। 

gulzar quotes in hindi

Mehfil mee gale mil kar wo 
Dheere se keh gaye
Ye duniya ki rasm hai
Isse mohabbat mat samajh lena

महफिल में गले मिल कर वो 
धीरे से कह गए
ये दुनिया की रसम है
इसे मुहब्बत मत समझ लेना। 


Ek hasrat thi kabhi
Wo hame manaaye
Par ye kambhakt dil
Kabhi unse rutha hi nahi

एक हसरत थी कभी 
वो हमे मनाये
पर ये कम्बख्त दिल 
कभी उनसे रूठा ही नहीं। 


gulzar best lines in hindi
gulzar best lines in hindi

gulzar ki shayari

Duniya mee mohabbat
Isliye barkarar hai
Kyoki ek tarfa pyar
Aaj bhi wafadaar hai

दूनिया मे मुहब्बत
इसलिए बरक़रार है
क्योकि एक तरफा प्यार
आज भी वफादर है। 


Kuch rishto mee 
Munaafa nahi hota
Magar zindagi ko ameer
Bana deti hai 

कुछ रिश्तो मे
मुनाफा नहीं होता 
मगर ज़िंदगी को अमीर 
बना देती है। 


Dard ki apni hi ek ada hai
Wo sehne walo par fida hai

दर्द का अपनी ही एक अदा है
वो सहने वालो पर फिदा है। 

gulzar shayari on life 

Thoda sukoon bhi 
Dhoondiye janab
Ye jaroorate kabhi
Khatam nahi hogi

थोड़ा सुकून भी 
ढूंढिए जनाब
ये जरूरत कभी 
ख़त्म नहीं होगी। 


Sehem si gayi hai
Khwaishe
Shayad jarurato ne
Uchi awaaz mee baat ki hogi

सहम सी गई है
ख्वाइशें
शायद जरूरतो ने
ऊंची आवाज मे बात की होगी। 


Suna hai kaafi padh 
Likh gaye ho tum
Kabhi wo bhi padho jo
Hum keh nahi paate

सुना है काफ़ी पढ़ 
लिख गए हो तुम 
कभी वो भी पढ़लो जो 
हम कह नहीं पाते। 

gulzar famous lines

Kya unko bhi yaad karti hai duniya
Jinko mout se pehle 
Mohabbat maar deti hai

क्या उनको भी याद करती है दुनिया 
जिनको मौत से पहले
मोहब्बत मार देती है। 


Beshak 
Khwaishe chand ki karo
Magar kabool
Uska daag bhi karo

बेशक़ 
ख्वाइशें चांद की करो 
मगर कबूल 
उसका दाग भी करो। 


Rooth jaane ke baad
Kasoor chahe kisis ka bhi ho
Baat ka aagaaz wahi karega
Jise bepnah mohabbat ho

रूठ जाने के बाद 
कसूर चाहे किसी का भी हो
बात का आगाज वही करेगा 
जिसे बेपनाह मुहब्बत हो। 

gulzar shayari on love

Tum khaas the 
Isliye lade tumse
Paraye hote toh
Muskurakar jaane dete..!

तुम ख़ास थे 
इसलिए लड़े तुमसे 
पराए होते तो 
मुसकुराकर जाने देते। 


Wajah poochne ka
Mouka hi nahi mila
Wo leheza badalte gaye aur
Hum ajnaabi hote gaye

वजह पूछने का
मौका ही नहीं मिला
वो लहज़ा बदलते गए और 
हम अंजनबी होते गए। 


Kuch faasale
Aese bhi hote hai janab
Jo taye toh nahi hote
Magar nazdikiya
Kamaal ki rakhte hai...!

कुछ फासले 
ऐसे भी होते है जनाब
जो तय तो नहीं होते 
मगरनज़दीकियां 
कमाल की रखते है। 

gulzar sahab best lines

Mujhe mohabbat ki
Tehjib mat sikhao
Maine ek umra usse
Dur se dekhkar chaha hai

मुझे मुहब्बत की
तहजीब मत सिखाओ
मैंने एक उम्र उसे 
दुर से देखकर चाहा है। 


Naa socha karo ki
Hum bhool jayenge tumko
Naa tum itne aam ho
Naa ye mere bas ki baat hai

ना सोचा करो की 
हम भुल जाएंगे तुमको
ना तुम इतने आम हो
ना ये मेरे बस की बात है। 


Uss rishte ko bhi nibhaya maine
Jisme naa milna pheli shart thi...!

उस रिशते को भी निभाया मैंने 
जिसमे ना मिलना पहली शर्त थी। 


gulzar sahab best lines
gulzar sahab best lines

Sukhe pate khud jhad jaate hai
Unhe jhaadna nahi padat
Ishq mee log khud mar jaate hai
Unhe maarna nahi padta

सूखे पते खुद झड़ जाते है
उन्हें झाड़ना नहीं पड़ता 
इश्क मे लोग खूद मर जाते है
उन्हें मारना नहीं पड़ता। 

gulzar shayari in hindi

Tu chehre ki badhati
Salvato ki parwah naa kar
Hum likhenge apni shayari  mee
Hamesha java tujhko

तू चहरे की बढ़ती 
सलवटो की परवाह ना कर
हम लिखेंगे अपनी शायरी में 
हमेशा जवा तुझको। 


Mere shabdo ko itna gour se 
Mat padha kijiye janaab
Thoda bohot bhi yaad reh gaya
Toh mujhe bhula nahi paaoge

मेरे शब्दों को इतना गौर से
मत्त पढ़ा कीजिए जनाब
थोडा बोहोत भी याद रह गया  
तो मुझे भुला नहीं पाओगे। 


Mohabbat hai tumse
Isliye khoobsurat lagti ho
Khoobsurat ho isliye
Mohabbat nahi hai

मोहब्बत है तुमसे
इसलिए खूबसूरत लगती हो
खूबसूरत हो इसलिए 
मोहब्बत नहीं है। 

gulzar best lines

Jo hum rooth jaaye toh 
Hame manaye koun
Bas issi fikra mee
Khush reh lete hai...!

जो हम रूठ जाए तो
हमे मनाए कौन 
बस इसी फिक्र में 
खुश रह लेते है। 


Ishq adhura reh jaaye 
Toh khud par naaz karna
Kehte hai sachi mohabbat
Mukammal nahi hoti

इश्क़ अधूरा रह जाए
तो खुद पर नाज़ करना
कहते है सच्ची मुहब्बत
मुकम्मल नहीं होती। 


Bohot mushkil se karta hu
Teri yaado ka karobaar
Munaafa kum hai magar
Guzaara ho jaata hai

बोहोत मुशकिल से करता हू
तेरी यादो का कारोबार
मुनाफा कम है मगर 
गुजारा हो जाता है। 

gulzar ki shayari

Yakeen toh sabko 
Jhoot par hi hota hai
Sach ko toh aksar
Saabit karna padta hai

यकीन तो सबको
झूठ पर ही होता है 
सच को तो अकसर
साबित करना पड़ता है। 


Chalo aao ajnaabi bankar 
Phir mile
Tum mera naam poocho 
Main tumhara haal puchu

चलो आओ अजनबी बनकर 
फिर मिले 
तुम मेरा नाम पूछो 
मैं तुम्हारा हाल पुछू। 


Faasalo ka 
Ehsaas tab hua
Jab maine kaha
Theek hu aur
Usne maan liya...!

फासलो का
एहसास तब हुआ
जब मैंने कहा
ठीक हु और
उसने मान लिया। 

gulzar sahab best lines

Barso baad bhi teri
Zid ki aadat naa badli
Kaash hum mohabbat nahi
Teri aadat hote...!

बरसो बाद भी तेरी
जिद की आदत न बदली
काश हम मोहब्बत नहीं
तेरी आदत होते। 


Wo suna rahe the apni
Wafao ke kisse
Hum par nazar padi toh
Khamosh ho gaye...!

वो सुना रहे थे अपनी 
वफ़ाओ के किस्से 
हम पर नज़र पड़ी तो
खामोश हो गए।

◼◼◼◼◼◼◼◼
Previous Post Next Post